Funny Moments & Viral Stories... Bollywood Stories and TV Show Stories

Full width home advertisement


Post Page Advertisement [Top]

भारत एशियाई गेम्स में पहली बार कबड्डी में पुरुष वर्ग फाइनल में नहीं जा सकेगा। क्योंकि सेमी फाइनल के मुकाबले में भारत को ईरान से 18-27 से हार का सामना करना पड़ा हैं। जिस कारण भारत को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ेगा।




कबड्डी को प्रथम बार 1990 में बीजिंग में आयोजित एशियाई गेम्स में हासिल किया गया था।  तब  लेकर अब तक भारत ने एशियाई गेम्स में स्वर्ण पदक जीतता आया हैं।  लेकिन इस बार भारतीय टीम को  कांस्य पदक  से ही संतोष होना पड़ेगा। भारतीय टीम अपने ग्रुप स्टेज मुकाबले में दक्षिण कोरिया से 23 -26 से हार गयी थी।
जिस कारण से भारत अपने ग्रुप में दूसरे स्थान पर रहा अगर भारत प्रथम स्थान पर होता तो सेमी फाइनल जीत कर फाइनल में प्रवेश कर लेता।  और रजत पदक भारत का पक्का हो जाता।

भारत की हार के कारण उसके रेडर्स का न चलना।  कप्तान अजय ठाकुर का बीच में चोटिल होना पड़ा।  भारतीय रेडर्स राहुल चौधरी, मोनू गोयल, रिशांक डेबडीगा, प्रदीप नरबाल व खुद कप्तान का असफल रहना भारत की हार का मुख्य कारण रहा। भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी रही।  और उसे ईरान को ऑलआउट करने का मौका भी मिला परन्तु भारतीय टीम ईरान को ऑलआउट करने में असफल रही।

वहीं अगर महिला कबड्डी टीम की बात की जाये तो उसने अपने बेतरीन प्रदर्शन की बदौलत फाइनल में जगह पक्की कर ली हैं।  सेमी फाइनल में भारतीय टीम का मुकाबला चाइनीज ताइपे से हुआ जिससे भारतीय खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन से चाइनीज ताइपे को 27-14 से मात देकर भारतीय महिला टीम ने फाइनल में अपना स्थान पक्का कर लिया।  फाइनल में भारतीय टीम का मुकाबला ईरान से होगा। 

No comments:

Post a Comment

Bottom Ad [Post Page]

| Designed by Colorlib